बिहार: 10वीं के टॉपर के लिए खुशखबरी, अब मुफ्त में होगी मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी

बिहार बोर्ड के 10वीं के टॉपरों को बिहार सरकार बड़ी सौगात देने जा रही है. 10वीं टॉपरों को बिहार सरकार फ्री में इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी करवाएगी. यह व्यवस्था इसी साल से लागू होने वाली है. इंजीनियरिंग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए 10वीं के टॉपर्स को बिहार स्कूल एगजामिनेशन बोर्ड कोचिंग की सुविधा देगा. 

मेडिकल और इंजीनियरिंग के बच्चों के लिए कोचिंग की सुविधा शुरू करने जा रही है बिहार सरकार. यह सुविधा 15 जुलाई से शुरू की जाएगी. रहने से लेकर खाने तक की व्यवस्था मुफ्त में होगी. साथ ही बच्चों को ड्रेस भी मिलेगा. 

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि टॉपर्स को जेईई मेन एडवांस्ड और नीट यूजी की तैयारी कराई जाएगी और यह बिल्कुल मुफ्त होगा. तीन-चार दिनों मेें आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी. बताया जा रहा है कि तीन-चार दिनों में आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी. कार्यक्रम का उद्धाटन मुख्यमंत्री करेंगे. सभी टीचर्स एक्सपर्ट रहेंगे. इसके लिए वेल क्वालिफाइड टीचर्स की नियुक्ति होगी. 

सरकार के इस फैसले के तहत कोचिंग पटना में होगी. इसके लिए पटना के दो स्कूल का चयन कर लिया गया है. छात्राओं के लिए बांकीपुर बालिका उच्च माध्यमिक और छात्रों के लिए पटना कॉलेजिएट हाई स्कूल है. खाने-पीने, पोशाक, किताबों के साथ तमाम सुविधाएं मुफ्त में दी जाएगी.  

छात्राओं के लिए बांकीपुर बालिका उच्च माध्यमिक और छात्रों के लिए पटना कॉलेजिएट हाई स्कूल है. खाने-पीने, पोशाक, किताबों के साथ तमाम सुविधाएं मुफ्त में दी जाएगी. इंटर में दाखिला भी इन्हीं दोनों स्कूल में होगा. पढ़ाई के साथ विशेष कक्षाएं इंजीनियरिंग और मेडिकल के लिए चलेगी. कोचिंग के लिए जितने विद्यार्थियों का चयन होगा, उसी के अनुसार इन दोनों स्कूलों में सीटें बढ़ाई जाएगी. वहीं छात्र-छात्राओं की सुविधा लिए पुस्तकालय के साथ अध्ययन कक्ष की व्यवस्था की जाएगी. स्कूल की पढ़ाई के साथ विद्यार्थी सेल्फ स्टडी कर सकेंगे.

बिहार बोर्ड की ओर से मैट्रिक 2023 की मेधा सूची में शामिल छात्र-छात्राओं के लिए निःशुल्क इंजीनियरिंग और मेडिकल कोचिंग जुलाई से शुरू होगी. इसके लिए राज्य मेधा सूची और जिला मेधा सूची में शामिल छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन आवेदन का मौका मिलेगा. बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि आवेदन प्रक्रिया जून के पहले सप्ताह से शुरू होगी. इसके बाद 100 से 150 विद्यार्थियों का चयन मेधा सूची के आधार पर किया जाएगा, जिन्हें इंजीनियरिंग व मेडिकल की निःशुल्क कोचिंग दी जाएगी. यह अवसर केवल बिहार बोर्ड के विद्यार्थियों को मिलेगा.

यह भी पढ़ें: उपमुख्यमंत्री ने दिया बिहार के लोगों को जॉब का मौका

Tags:  #BiharNews #BiharLatestNews #BSESB10thTopper